शुक्रवार 04 2020

 भारत में ट्रैफिक नियम कैसे बना ?


क्या आप जानते हैं भारत में गाड़ियां सड़क की बाई तरफ क्यों चलती है ? और लोग बाई तरफ क्यों चलते हैं ? जबकि गाड़ी का स्टेरिंग दाएं तरफ होता है । अमेरिका सहित बहुत से पश्चिमी देशों में गाड़ियां दाएं तरफ चलती है और उनका स्टेरिंग बाई तरफ होता है । ऐसा क्यों ?


आज हम आपको बताएंगे कि दुनिया भर में गाड़ियों का बाई और दाई तरफ चलने का चलन कब और क्यों शुरू हुआ ?

विश्व भर के बहुत से देशों में सड़क के बाई तरफ चलने की शुरुआत 18 वीं शताब्दी में हुई थी । सड़क पर चलने के नियम का प्रमाण पहली बार रोमन साम्राज्य से प्राप्त हुआ । सबसे पहले जानते हैं कि सड़क पर बाई तरफ चलने की शुरुआत किन कारणों से हुई ?

सड़क पर बाई तरफ चलने के मुख्य तीन कारण है


1. पहला कारण

पुराने समय में सड़कों पर चलना बिल्कुल भी सुरक्षित नहीं होता था । और लोगों को सामने से आने वाले अनजान लोगों से कभी कभी खतरा भी रहता था इसलिए अपनी सुरक्षा के लिए अपने साथ तलवार भी रखा करते थे । क्योंकि ज्यादातर लोग तलवार चलाने के लिए अपने दाहिने हाथ का प्रयोग करते थे हैं । इसी वजह से बाई तरफ से आने वाले तलवारबाज को अपनी तलवार दाहिने हाथ में रखना पड़ता था ताकि वह अपने दुश्मनों का दाहिने हाथ से सामना कर सकें ।

2. दूसरा कारण

सड़क पर चल रहे व्यक्ति को जब उसका कोई मित्र मिलता तो उस वक्त हुआ हाथ मिलाने के लिए अपने दाहिने हाथ का इस्तेमाल करता । क्योंकि सामने वाला व्यक्ति अपने बाएं हाथ का इस्तेमाल करता है ।

3. तीसरा कारण

तीसरा कारण यह था कि पोप बोनोफिश अष्टांग ने विभिन्न देशों से रोम की तरफ आने वाले लोगों से आग्रह किया कि अपनी यात्रा के दौरान अपनी गाड़ी को सड़क की बाई तरफ चलाने का नियम का पालन करें । इसी वजह से अधिकतम लोगों ने इस नियम का पालन करना शुरू कर दिया । इन सभी कारणों से 18 वीं शताब्दी तक दुनिया के लगभग सभी पश्चिमी देशों में सड़क की बाई तरफ चलने के नियम का पालन किया जाने लगा ।



अमेरिका में दाएं तरफ चलने का नियम क्यों बना ?


18 वीं शताब्दी की शुरुआत में संयुक्त राज्य अमेरिका में बैगन वाहन रोड पर चलने लगे थे जिसे घोड़ों की एक टीम खींचती थी । इसमें ड्राइवर के बैठने की कोई स्थाई सीट नहीं होती थी अतः ड्राइवर सबसे बाएं हाथ वाले घोड़े के ऊपर बैठता था और अपने दाहिने हाथ से चाबुक से घोड़ों को हांकता था । इसी कारण अमेरिकी लोगों को सड़क के बाई तरफ चलने के नियम में बदलाव करना पड़ा । और वे सड़क के दाहिनी तरफ चलने लगे 





इस बदलाव के प्रमुख वजह यह थी कि सबसे बाई तरफ घोड़े पर बैठकर दाहिनी तरफ चलने से सामने या पीछे से आने वाले वैगनो पर नजर रखना आसान होता था । अमेरिका के पेंसिलवेनिया प्रांत में सड़क के दाएं तरफ चलने का नियम 1972 में लागू किया गया और 18वीं शताब्दी के अंत तक इस नियम का पालन संयुक्त राज्य अमेरिका और कनाडा में भी किया जाने लगा ।

भारत में बाई तरफ चलने का नियम कैसे बना ?


अमेरिका की तरह इंग्लैंड में कभी घोड़ों से खींचे जाने वाले वैगनोर का इस्तेमाल नहीं किया गया । क्योंकि लंदन और अन्य शहरों की छोटी गलियों में इन वैगनो का संचालन मुश्किल भरा होता था । इसके अलावा इंग्लैंड के ऊपर कभी भी नेपोलियन या जर्मनी ने विजय हासिल नहीं की थी इसी वजह से इंग्लैंड के ऊपर कभी भी जर्मनी के नियम व संस्कृति लागू नहीं हो पाया । यही कारण है कि इंग्लैंड में हमेशा ही सड़क के बाएं तरफ चलने के नियम का पालन किया जाने लगा ।




 सन 1756 में इंग्लैंड में इसे आधिकारिक रूप से कानून का रूप मिल गया । मतलब इंग्लैंड ने भी पोप के द्वारा दिए गए आदेश का पालन किया । अब दुनिया में जैसे-जैसे ब्रिटिश साम्राज्य का विस्तार होता गया सड़क की बाई तरफ चलने का प्रचलन शुरू हो गया । क्योंकि भारत भी लगभग 200 वर्षों तक अंग्रेजों के कब्जे में था इसलिए भारत में भी सड़क के बाएं तरफ चलने का नियम का पालन किया जाने लगा । इसी कारण भारत में सड़क के बाई तरफ चलने का चलन अंग्रेजों ने ही शुरुआत किया था ।

अभी कितने देशों में सड़क पर दाएं तरफ या बाई तरफ चलने का नियम लागू है ?


वर्तमान समय में दुनिया के लगभग 163 देशों में सड़क के दाएं तरफ चलने का नियम का पालन किया जाता है । जबकि 76 देशों में सड़क के बाईं तरफ चलने का नियम का पालन किया जाता है । ब्रिटेन, आयरलैंड और साइप्रस को छोड़कर बाकी सभी यूरोप के देशों में सड़क के दाएं तरफ चलने के नियम का पालन किया जाता है । चीन में भी सड़क के दाएं तरफ चलने के नियम का पालन किया जाता है जबकि चीन शासित हांगकांग और मकाऊ में सड़क के बाईं तरफ चलने के नियम का पालन किया जाता है ।

शिवोस . 2017 Copyright. All rights reserved. Designed by Blogger Template | Free Blogger Templates